राष्ट्रीय मलेरिया अनुसंधान संस्थान

+91-11-25307103 / 104            director@mrcindia.org

रोगवाहक जीव विज्ञान और नियंत्रण क. रोगवाहक आनुवंशिकी एवं जीव पारिस्थितिकी प्रयोगशाला मुख्य अन्वेषक डॉ. नूतन नन्दा, वैज्ञानिक एफ अनुसंधान कर्मचारी श्री रवीन्द्र सिंह तकनीकी सहायक श्री कृष्ण गोपाल, तकनीकी सहायक श्री राम कंवर, तकनीशियन ‘ए’ श्री कंवर सिंह, तकनीशियन ‘ए’ श्री राम कुमार, टी.एस. कर्मचारी रा.म.अ.सं. के रोगवाहक जीव विज्ञान एवं नियंत्रण प्रभाग के अधीन रोगवाहक आनुवंशिकी और जीव पारिस्थितिकी प्रयोगशाला मुख्यत: सहोदर जाति स्तर पर मलेरिया रोगवाहक के जीव विज्ञान और जैव पारिस्थितिकी से संबंधित अनुसंधान कार्य; सहोदर प्रजातियों के वितरण का नक्शाकरण, देश के विभिन्न पारिस्थितिक-जानपदिक रोगविज्ञान क्षेत्रों में मलेरिया संचारण में उनकी भूमिका एवं जैव-विज्ञानी लक्षणों का अध्ययन कार्य करती हैं। इस अनुभाग ने एनॉ. फ्लुवायतिलिस, एनॉ. क्युलिसिफेसीज़ और एनॉ. संडायकस के समूह में सहोदर प्रजातियों की पहचान हेतु साइटोटेक्सोनॉमिक तकनीकों और नए उपायों का विकास करते हुए मलेरिया की नर्इ प्रजातियों की खोज में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। सहोदर प्रजाति स्तर पर मलेरिया रोगवाहकों के जीव विज्ञानीय लक्षणों ने वितरण पैटर्न की भिन्नता, विश्राम और भरण की प्राथमिकताओं, जन स्वास्थ्य हेतु प्रयुक्त कीटनाशकों के प्रभाव एवं सहोदर प्रजातियों में मलेरिया संचारण प्रभाव के संबंध में बहुमूल्य जानकारी प्रदान करता है जिसे देश के विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों के मलेरियाजनित स्तरीकरण हेतु प्रयोग में लाया गया है। मलेरिया महामारीविद क्षेत्रों में भिन्न पारिस्थितिकी परिवेशों में मलेरिया संचारण गत्यात्मकता की जटिलताओं को समझने हेतु भू-जलवायु संबंधी, कीट विज्ञान संबंधी, परजीवी विज्ञान संबंधी सामाजिक, आर्थिक कारकों की भूमिका पर भी अध्ययन शुरू किए गए हैं। मूल एवं अनुप्रयुक्त अनुसंधान का समन्वय भी मलेरिया संचारण को बाधित करने हेतु प्रभावशाली रोगवाहक नियंत्रण रणनीतियों की योजना बनाने में मददगार सिद्ध हुआ है। नए प्रकाशन (2014-16) 1. खटर एन., नागपाल बी.एन., कपूर एन., श्रीवास्तव ए., गुप्ता एच.पी., सक्सेना आर., शमीम ए., कुमार वी., गुप्ता एस.के., सिंह वी.पी., देव वी., नन्दा एन., वलेचा एन., इम्पैक्ट ऑफ इकोलोजिकल एण्ड कलाइमेटिक चेंजिस ऑन वैक्टरस ऑफ मलेरिया इन फोर नोर्थ ईस्टर्न स्टेटस ऑफ इण्डिया 2. कार एन.पी., चौहान के., नन्दा एन., कुमार ए., काल्टिन जे.एम., दास ए., उडीसा राज्य भारत में प्लाज्मोडियम फाल्सीपैरम दवा प्रतिरोधी जीन में दो अलग-अलग र्इको-टाइप में म्यूटेशन की व्यापकता पर एक तुलनात्मक आंकलन: संक्रमण, आनुवंशिकी और विकास के संदर्भ में| 3. देव वी., अदक टी., सिंह ओ.पी., नन्दा एन., वैद्या के. त्रिपुरा में मलेरिया का प्रसारण: रोग का विस्तारण एवं निर्धारक तत्व| 4. तिवारी एस, घोष एस के, सत्यनारायण टी एस, नन्दा एन, उरगायला एस, वलेचा एन, मलेरिया आउटब्रेकस इन विलेज़िस उन नार्थ कर्नाटका। इण्डिया एण्ड रोल ऑफ सिबलिंग स्पीशिज़ ऑफ एनॉफिलिज़ क्युलिसिफासिज़ काम्पलैक्स।हैल्थ 2015;7:946 64। 5. सिंह एन, मिश्रा ए के, चॉद एस के, भारती पी के, सिंह एम पी, नन्दा एन, सिंह ओ पी , उदयकुमार वी , रिलेटिव अबंडस एण्ड प्लाज़ोमोडियम इंफैक्शन रेटस ऑफ मलेरिया वैक्टरस इन एण्ड अराउंड जबलपुर, ए मलेरिया एण्डेमिक रीज़न उन मध्यप्रदेश स्टेट, सेंट्रल इण्डिया। प्लस वन 2015;10(5):eo126932। 6. सिंह आर, सिंह डी, गुप्ता आर., सवारगॉवकर डी, सिंह ओपी, नन्दा एन, भट्ट आरएम, वलेचा एन, कम्पेरेज़न ऑफ थ्री पीसीआर बेसड एसेएस फॉर नॉन इन्वेसिव डॉयग्नोसिज ऑफ मलेरिया: डिटेक्शन ऑफ प्लॉज्मोडियम पेरासाईटस इन ब्लड एण्ड सालिवा।युर जे क्लिन माइक्रोबॉयल इन्फैक्ट दिस 2014 सितम्बर;33(9):1631-9। 7. कार एन पी., कुमार ए, सिंह ओपी, कार्ल्टन जे, नन्दा एन। ए रिविउ ऑफ मलेरिया ट्रांसमिशन डाइनेमिक्स इन फोरेस्ट इकोसिस्टमस। पेरासाईट वैक्टरस 2014 जून 9; 7(1):265।

सर्वाधिकार ©2015, राष्ट्रीय मलेरिया अनुसंधान संस्थान